fbpx

मांसपेशियों में दर्द के साथ 5 रोगों का आयुर्वेदिक इलाज करे शालपर्णी | Hindi Health Tips

शालपर्णी , Desmodium gangeticum का ज्यादातर इस्तेमाल मांसपेशियों में दर्द या सूजन के इलाज के लिए होता है. शालपर्णी हमारे मांसपेशियों को मजबूत बनाता है.इसके अलावा Skin की समस्या, दस्त (dysentery) और उल्टी (vomiting) जैसे बीमारियों में भी शालपर्नी को काफी असरदार माना जाता है.

1. कील-मुहांसे – कील-मुहांसे दूर करने के लिए शालपर्णी के बीज को पीसकर उसका पेस्ट बनाकर लगाने से फायदा मिल सकता है
2.घाव भरे- घाव भरने के लिए शालपर्नी के ताज़े पत्तों का इस्तेमाल लाभकारी बताया गया है
3.डायरिया – शालपर्णी के पत्तों का सेवन औषधिय तरीके से करने से डायरिया ठीक हो सकता है
4.कफ- सर्दी- खांसी और कफ होने पर शालपर्णी का जड़ फायदा पहुंचा सकता है
5.मांसपेशियों के लिए- आयुर्वेद विशेषज्ञ मांसपेशियों की मजबूती के लिए शालपर्णी को असरदार टॉनिक बताते हैं

आयुर्वेद के मुताबिक ये थे शालपर्णी के फायदे .. आयुर्वेद से जुड़ी सेहतमंद जानकारियों के लिए देखते रहें…

To subscribe click this link –

#Desmodium_gangeticum #dysentery #vomiting #skin #drbole #health_tips #hindi_health_tips

(Visited 38 times, 1 visits today)

You might be interested in

LEAVE YOUR COMMENT

Your email address will not be published. Required fields are marked *