fbpx

रात को होने वाली पैरों की ऐंठन से कैसे पाएं छुटकारा | Hindi Health Tips

क्या आप की नींद रात में अचानक से पैर में दर्द होने की वजह खुल जाती है ? अकसर रात में पैरों की पिंडलियों में मरोड़ या जकड़न सी महसूस होती है, जिसे मेडिकल की भाषा में क्रैम्पस कहते हैं | ये होता तो है कुछ ही मिनटों के लिए लेकिन तकलीफ बहुत ज्यादा होती है | ये समस्या बहुत आम है |लेकिन क्या आप जानते हैं इसकी वजह क्या है | नहीं,तो आइए हम आपको बताते हैं इसके मुख्य कारण क्या है |

1. डिहाईड्रेशन- शरीर में पानी की कमी होने के कारण मांसपेशियों पर अधिक दबाव पड़ता है। जिसकी वजह से आधी रात में पैर में क्रैम्पस आते हैं।

2. हाइपोथायराइडिज्म- थायरॉइड हॉर्मोन की कमी होने से हाइपोथायराइडिज्म होता है | ये मांसपेशियों में क्रैम्पस, थकान और कमज़ोरी का एक मुख्य कारण हो सकता है।

3. हाई ब्लड शुगर – ब्लड शुगर बढ़ने से भी पैरों में क्रैम्पस की समस्या होती है | इसलिए ब्लड शुगर लेवल का हमेशा ध्यान रखना चाहिए

4. दवाईयों के साइड – इफेक्ट-कोई भी दवाई लेने से पहले हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लें। कई बार दवाईयों की साइड-इफेक्ट की वजह से आपको क्रैम्पस आते हैं |

5. थकान- अधिक काम और भाग-दौड़ या कभी कभी ज्यादा एक्सरसाइज के कारण मांसपेशियों में थकान आ जाती है जिसके कारण पैर में क्रैम्पस आते हैं।

6.मांसपेशियों की कमज़ोरी – मांसपेशियों की कमज़ोरी कोई गंभीर बात नहीं है परंतु यदि यह यह समस्या स्थाई हो जाए तो यह किसी गंभीर समस्या का संकेत हो सकता है।

7. पोषक तत्वों की कमी- जरूरी मिनरल्स जैसे पोटैशियम, सोडियम आदि की कमी के कारण भी रात के समय पैर में क्रैम्पस आ सकते हैं। शरीर में मिनरल्स की कमी के कारण मांसपेशियों की कोशिकाओं पर दबाव पड़ सकता है।

इसके लिए ये जरूरी है कि आप अपने खान-पान का खास खयाल रखें |

To subscribe click this link –

#Hypothyroidism #dehydration #side_effects #drbole #healthy_tips #hindi_health_tips

Disclaimer- purpose of displaying these medicinal properties of items/herbs on Drbole.com is just for information, patient must approach his/her doctor or ayurvedacharya before using any kind of herbal or allopathic medicine.

source

(Visited 17 times, 1 visits today)

You might be interested in

Comment (8)

LEAVE YOUR COMMENT

Your email address will not be published. Required fields are marked *